Tagged: मोहब्बत शायरी

न जाने हर कोई क्यों इश्क का दीवाना है!

ज़रूरी काम है लेकिन रोज़ाना भूल जाता हूं, मुझे तुम से मोहब्बत है बताना भूल जाता हूं. तेरी गलियों में फिरना इतना अच्छा लगता है, मैं रास्ता याद रखता हूँ ठिकाना भूल जाता हूं....