Tagged: parliament house

साहब! कैंटीन में तो सस्ता मिलता है और आपलोग नहीं खाते..

सनुज तिवारी उड़ीसा से दिल्ली पढ़ाई करने आए हैं। गांव में उनके पिताजी एक निजी स्कूल में बतौर शिक्षक पढ़ाते हैं। उनकी स्थिति इतनी अच्छी नहीं है कि वो सनुज को पढ़ा सकें लेकिन...