Tagged: respect

दादा-दादी आप बहुत याद आते हो

एक कहावत है- सूत से ज्यादा प्यारा कपास होता है यानि किसी भी मां-बाप को अपने बच्चों से ज्यादा उनके बच्चों प्यारे होते है। एक परिवार तब पूरा होता है जब उसमें मां-बाप के...






ये है मयूर विहार का निरहुआ रिक्शावाला, इनका काम सबसे है निराला!

नाम- रमेश चंद्र, काम- रिक्शा चलाना, शौक- सड़क के कुत्तों को खाना खिलाना। ये कोई गुमशुदगी की रिपोर्ट नहीं बल्कि एक सच्चाई है। रमेश चंद्र की उम्र 38 साल है, वो पिछले 9 साल...